Desi Jugaad: रीवा से सीधी समान ढोने के लिए अपनाए ये जुगाड़, सड़को पर दौड़ रही ऐसी बाइक 

Desi Jugaad: रीवा से सीधी समान ढोने के लिए अपनाए ये जुगाड़, सड़को पर दौड़ रही ऐसी बाइक 

बढ़ते आधुनिक युग में तरह-तरह के आविष्कार किया जा रहे हैं। कई आविष्कार ऐसे होते हैं जो मानव संसाधन के लिए बेहद जरूरी होते हैं, इंटरनेट की इस जमाने में लोग अपने बनाए देसी जुगाड़ को पूरे देश दुनिया में वायरल कर रहे हैं। ऐसा देसी जुगाड़ बहुत काम आते हैं, जहां हल्के-फुल्के सामान ढोने के लिए हमें कई बड़े साधन की आवश्यकता पड़ती है। पर अब ऐसा जुगाड़ किया गया है। जिससे हमारी बाइक में ही हाइड्रॉलिक ट्रॉली अटैच कर दी जाती। जिससे छोटे-मोटे कार्य बड़ी ही आसानी से किया जा सकता है, अब यह बाइक रीवा सीधी कि रोड़ों पर भी कभी कभार देखने को मिल जाती है। इसका मतलब है कि यह बाइक अब पूरे देश में चल रही है, मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो ऐसी ट्रॉली बनाने में 30 हजार तक का खर्चा आ सकता है, 

लोग अपना रहे ऐसा जुगाड़ 

छोटे-मोटे कार्यों के लिए ऐसे जुगाड़ काफी कारगर साबित होता हैं। जहां हम बड़े वाहनों का इस्तेमाल नहीं कर पाते पर हम इन छोटे वाहनों को अपने कार्यों में जरूर ला सकते हैं, अब लगातार हाइड्रोलिक ट्राली की मांग बढ़ रही, खासकर खेती किसानी के कार्य में ऐसी बाइक बेहद जरूरी होती है। कम कीमत में इस बाइक को बनाया जा सकता है तथा इसे बड़े कामों में इस्तेमाल किया जा सकता है, बाजारों से शॉपिंग के साथ-साथ अन्य छोटे-छोटे कार्य इस बाइक से किया जा सकता है, 

Photo by google

बनाने में कितना होगा खर्च, सड़को पर दौड़ रही बाइक हाइड्रॉलिक ट्रॉली 

आधुनिक जमाने में ऐसी बाइक अब धीरे-धीरे बनाई जा रही है। और यह बाइक सड़कों पर अब देखने को मिल रही है ऐसी बाइक बनाने में 30000 तक का खर्चा आ सकता है। आपको इसमें 100 सीसी से अधिक बाइक का इस्तेमाल किया जाता है। ताकि वह इस ट्रॉली का भार तथा अन्य समान का भार धो सके, बेहद ही कम कीमत में इस बाइक को बनाकर अपने कार्य में इस्तेमाल किया जा सकता है, अब ऐसा देसी जुगाड़ सड़कों पर भी देखने को मिल रहे हैं, लोग इस बाइक को रिक्शा भी कह रहे हैं। यह बाइक रिक्शा से ज्यादा मिलती-जुलती है, कमाल के इस देसी जुगाड़ को अब पूरे देश की सड़कों पर उतर जा रहा है,

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment