जुर्ममध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश में खूनी खेल मवेशी चराने को लेकर हुआ विवाद समझौते के पहले 5 लोगों कि हुई हत्या 

मध्य प्रदेश में खूनी खेल मवेशी चराने को लेकर हुआ विवाद समझौते के पहले 5 लोगों कि हुई हत्या 

मध्य प्रदेश के दतिया के रेड़ा गांव में 13 सितंबर को मवेशी चराने को लेकर एक विवाद हुआ इस विवाद ने खूनी रूप ले लिया, इस खूनी संघर्ष ने पांच लोगों की जान ले ली, जिसमें छह लोग घायल बताए जा रहे हैं, आपको बता दे दो पक्षों के बीच इस घटना के बाद पूरे गांव में हड़कंप मच गया कई लोग गांव छोड़कर अपने रिश्तेदारों के यहां चले गए, गांव में बचे लोग किसी भी प्रकार की बातचीत करने से बच रहे थे, मीडिया रिपोर्ट्स कि माने तो गांव में मंदिर में पंचायत बैठने जा रही थी। लेकिन उसके पहले ही ऐसी बड़ी घटना हो गई

बता दें, यहां भारी पुलिस बल तैनात कर दिया गया है.  

पुलिस कर्मियों के बीच दोनों पक्षों के रिश्तेदार भी अब अपने परिजनों से मिलने पहुंच रहे हैं, मृतकों को पुलिस ने अपनी देखभाल में रखा है। और अंतिम संस्कार शवों का किया। बताया गया कि दो समाज के लोगों के बीच यह बड़ा विवाद हुआ अभी दो लोग गंभीर रूप से घायल हैं। उन्हें ग्वालियर अस्पताल रेफर किया गया। इस घटना के बाद चंबल रेंज के आईजी सुशांत सक्सेना एवं एसपी प्रदीप शर्मा ने मौके का जायजा लिया।

Komal Choudhary की हॉट जवानी देख स्टेज पर उम्र भूल ताऊ घेर लिया, Sapna Choudhary भी पड़ी फीकी! 

यह पूरा विवाद गाय चराने को लेकर प्रारंभ हुआ तीन से चार दिन पहले गांव में रहने वाले 66 वर्षी राम प्रकाश डांगी और 65 वर्षीय प्रीतम पाल के साथ मवेशी चराने को लेकर झड़प हुई, दोनों के बीच जमकर कहा सुनी शुरू हो गई, प्रीतम पाल ने थाने में शिकायत भी दर्ज कराई थी, इसके अगले दिन राम प्रकाश डांगी के बेटे सुरेंद्र दांगी ने भी थाने में जाकर अपनी शिकायत दर्ज करवा दी, गांव के लोगों ने समझाने का प्रयास किया पर लोगों ने सोचा एक ही गांव में रहकर आपस में विवाद करना ठीक नहीं, इसके बाद दोनों पक्ष गांव के गुरु महाराज के मंदिर में समझौता करने के लिए तैयार भी हुए,

पहले पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप 

इस हमले में  सुरेंद्र दांगी ने कहा कि हम समझौता करने के लिए तैयार हो गए थे। पर पाल समाज के लोगों के मन में कुछ और ही चल रहा था, उसने बताया कि जीजा सुरेंद्र दांगी के खेत से घर लौटते वक्त रास्ते में भवानीपुर रोड पर पाल समाज के लोगों ने उन्हें रोक दिया तथा मारपीट कर उनकी हत्या कर दी, जिसके बाद उनके भाई और पिता को फोन लगा कर कहा कि तेरा भाई सड़क पर पड़ा है इसको ले जाओ, जब हम सब वहां पर पहुंचे तो लोगों ने प्रकाश और रामनरेश दांगी पर लाठी डंडों से हमला कर पीटा इसके बाद गोली मार दी

दूसरे पक्ष ने बयान में कही यह बात। 

इस पूरे घटना में घायल अन्य पक्ष के ज्ञान सिंह पाल ने बताया कि राम प्रकाश ने चाचा के साथ मारपीट जैसी वारदात की, इस वारदात के बाद हम लोगों ने थाने पर शिकायत की थी जिसके अगले दिन राम प्रकाश भी थाने में शिकायत की, पूरे ग्रामीण जनों के समझाने के बावजूद भी बुधवार को गांव के गुरु महाराज मंदिर में समझौता होना था जहां परिवार के सभी लोग एकत्रित हो रहे थे, पर उससे पहले सुरेंद्र दांगी, नरेश ,प्रकाश और अन्य लोगों पहुंच इनके पास बंदूक थी उन्होंने राजेंद्र पाल एवं राघवेंद्र पाल को घर से 100 मीटर दूर जाकर गोली मार दी हम बचाने दौड़े तो हम पर भी फायर की गई,

पूरे खूनी संघर्ष में 5 लोगों की मौत। 

गांव में हुई इस पूरी घटना में पांच लोगों की मौत हो गई जिसमें दांगी समाज के एक ही परिवार के प्रकाश सुरेंद्र और रामनरेश शामिल थे, पाल समाज के राजेंद्र और राघवेंद्र की मौत हुई जबकि अरविंद दांगी राममिलन दांगी और ज्ञान सिंह पाल रघुवीर डांगी मुकेश पाल एवं ठाकुरदास पाल घायल हुए हैं अरविंद दांगी ठाकुरदास पाल और मुकेश पाल गंभीर रूप से घायल है। डॉक्टरों ने इन्हें ग्वालियर रेफर किया है,

विंध्य रियासत डेस्क

खबरें आपके लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button