राजस्थान में कांग्रेस की सियासत में बीजेपी का घेरा, अशोक गहलोत और चंद्रशेखर राव ने दिया इस्तीफा

राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस की हार के बाद सीएम अशोक गहलोत ने रविवार को राजभवन पहुंचकर राज्यपाल कलराज मिश्र को अपना इस्तीफा दिया. राज्यपाल के द्वारा उनका इस्तीफा तत्काल स्वीकार कर लिया गया और उनसे नई सरकार के गठन तक काम करते रहने का आग्रह किया. चुनाव के परिणाम आने के बाद अशोक गहलोत ने कांग्रेस वार रूम में बैठकर पर्यवेक्षक भूपेंद्र हुड्डा तथा वरिष्ठ नेताओं से बात की। इस्तीफा से पहले उन्होंने कांग्रेस वार रूम में प्रेस कॉन्फ्रेंस भी आयोजित की.

चुनावी रूझानों के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा 

 अशोक गहलोत ने स्वीकार की अपनी हार

अशोक गहलोत के द्वारा हार स्वीकारते हुए नई सरकार बनने की बधाई दी और सोशल मीडिया पर भी उन्होंने बयान जारी किया. गहलोत ने कहा हम “विनम्रता पूर्वक जनादेश को स्वीकार करते हैं. यह सभी के लिए अप्रत्याशित परिणाम है. यदि हम अपनी योजनाओं कानून नवाचारों को जनता तक ले जाने में पूरी तरह सफल नहीं हुए. मैं नई बनने वाली सरकार को शुभकामनाएं देता हूं”

कड़ी मेहनत के बाद हम सफल नहीं हुए

अशोक गहलोत ने कहा कि नई सरकार को मेरी सलाह है की कड़ी मेहनत करने के बावजूद भी सफल नहीं हुए. इसका मतलब यह नहीं है कि सत्ता में आने के बाद उन्हें काम नहीं करना चाहिए. ओपीएस चिरंजीव सहित सभी योजनाओं एवं 5 वर्षों में हमने राजस्थान में विकास जो गति से किया उसे लगातार रखा जाना चाहिए तथा निरंतर बढ़ाया जाना चाहिए

केसीआर ने दिया इस्तीफा

तेलंगाना के मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव ने 119 सदस्य विधानसभा में कांग्रेस के द्वारा बहुमत सीट जीतने के बाद रविवार को राज्यपाल तमिलिसाई सुंदरराजन को अपना त्यागपत्र दिया. जब पता लगा कि भारत राष्ट्र समिति सत्ता बरकरार नहीं रख पाई. तब एक अधिकारी के जरिए राज्यभवन को अपना इस्तीफा भेज दिया. उम्मीद थी कि वह त्यागपत्र सौंपने राज्यभवन खुद जाएंगे ,लेकिन नहीं पहुंचे इसके बाद जानकारी लगी कि उन्होंने इस्तीफा एक अधिकारी के माध्यम से दिया

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment