सात समंदर लांघ कर आए विधानसभा चुनाव लड़ने, रीवा की इस विधानसभा सीट में मिली निराशा  

Rewa News: 25 वर्ष के युवा नेता आम आदमी पार्टी गुढ़ के प्रत्याशी प्रखर प्रताप सिंह के पक्ष में नतीजा नहीं आया, इस विधानसभा सीट से बीजेपी के नागेंद्र सिंह को बंपर जीत मिली है. प्रखर प्रताप सिंह को लेकर पहले चर्चा थी की वह विधानसभा चुनाव लड़ने अमेरिका से गुढ़ पहुंचे थे. महीनों तक चुनावी तैयारी की पर नतीजा उनके पक्ष में नही रहा, दूसरे नंबर पर यहां कांग्रेस थी। तीसरे नंबर पर बहुजन समाज पार्टी और चौथे स्थान पर आम आदमी पार्टी

25 वर्ष के है प्रखर प्रताप सिंह

गुढ़ के रायपुर कर्चुलियान पुस्तानी निवासी देश के प्रसिद्ध दून स्कूल देहरादून से अपनी शुरुआती शिक्षा प्राप्त करने के बाद वह अमेरिका चले गए. अमेरिका में वह आर्किटेक्ट की डिग्री ली और इटली में मास्टर डिग्री हासिल की. डिग्री पूरी होते ही प्रखर प्रताप सिंह को भारतीय मुद्रा के हिसाब से एक करोड रुपए सालाना के पैकेज पर नौकरी दी गई, लेकिन वह वतन की मिट्टी कि महक गांव की यादों को नहीं भूल पाए और चुनाव के बहाने जनसेवा करने अमेरिका से आ गए.

Sidhi News: सीधी में कभी था राज, केदार की विरासत में लगी किसकी नजर 74 हजार वोटों से हारे चुनाव

मध्य प्रदेश में जिस EVM मशीन से हुआ मतदान, इस मशीन को लेकर गजब के तथ्य आए सामने 

रीवा की इस विधानसभा सीट में मिली निराशा

गुड विधानसभा सीट में भारतीय जनता पार्टी को शानदार जीत मिली। यहां के प्रत्याशी नागेंद्र सिंह को 68715 वोट मिले. कांग्रेस प्रत्याशी कपिध्वज सिंह को 66222 वोट मिले. बहुजन समाज पार्टी की सरोज रविंद्र कोल को 18348 वोट मिले। जबकि आम आदमी पार्टी के प्रत्याशी प्रखर प्रताप सिंह को 2213 वोट ही मिल पाए

क्या कहते है प्रखर प्रताप सिंह

प्रखर प्रताप का कहना है कि उनकी विधानसभा में कई तरह की समस्याएं हैं। गरीबों को छोटी-छोटी ज़रूरतें हैं जो पूरी नहीं हो पा रही है. हमारा लक्ष्य है कि रूट लेवल पर काम करूं ताकि उनके जीवन में विभिन्न तरह के सुधार हो और क्षेत्र की जनता खुशहाल हो

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment