MP News:विधानसभा चुनाव में, समधी – समधन आमने सामने जानिए किसने – किसको हार का स्वाद चखाया

MP politics news:ग्वालियर संभाग कि बहुचर्चित विधानसभा पुनः सुर्खियों में है, यहां समधन – समधी के बीच सियासी जंग छिड़ी इसमें समधी ने समधन को दूसरी बार शिकस्त दी. सिंधिया समर्थक भाजपा प्रत्याशी इमरती देवी। इनकी दूसरी हार है. काटो के टक्कर के बीच कांग्रेस प्रत्याशी सुरेश राजे ने 2267 मतों से चुनाव जीत लिया।

मध्य प्रदेश में अपने बयानों को लेकर चर्चाओं में रहने वाली इमरती देवी के भाई की बेटी का विवाह वर्तमान विजेता सुरेश राजे के बड़े भाई के बेटे से हुआ है. इमरती देवी सुरेश राजे, समधी समधन है

3 दिसंबर मतगणना के समय सुरेश राजे और इमरती देवी 16 राउंड तक आगे पीछे चलते रहे, पर 17वे राउंड में बाजी पलटी कांग्रेस प्रत्याशी ने चुनाव जीत लिया

Anju ISI Connection: अंजू ISI से हैं कनेक्शन नसरुल्ला की फातिमा ने बताया पाकिस्तान में क्या-क्या हुआ!

इस चुनावी दौड़ ने कांग्रेस प्रत्याशी को 84717 वोट दिए जबकि भाजपा प्रत्याशी को 82450 वोट प्राप्त हुए और कांग्रेस ने 2267 बढ़त के साथ जीत हासिल कर ली

बता दें. इमरती देवी कांग्रेस पार्टी से ही राजनीतिक भविष्य की शुरुआत की. इमरती ने सबसे पहले चुनाव बतौर कांग्रेसी साल 2008 में जिया. फिर 2013 और 2018 में जबरदस्त जीत हासिल की.

वर्ष 2020 में एमपी राजनीति में घटनाक्रम के दौरान इमरती देवी ने ज्योतिरादित्य के साथ कांग्रेस से बगावत कर बीजेपी का दामन थामा था.

इस साल उपचुनाव में भाजपा नहीं मंत्री को डबरा सीट से टिकट दिया लेकिन रिश्ते में समाधि सुरेश राजा ने कांग्रेस से टिकट लेकर समधन को 7568 मतों से हार का स्वाद चखाया

हालांकि इससे पहले साल 2013 के चुनाव में दोनों पहली बार आमने-सामने हुए थे तब भाजपा से चुनाव मैं लड़े सुरेश राज को कांग्रेस की भारती देवी से हार मिली थी. डबरा विधानसभा सीट पर 2018 में हुए विधानसभा चुनाव में इमरती से बीजेपी के कप्तान सहसारी हार गए थे।

ग्वालियर जिले की 6 विधानसभा सीटों में ग्वालियर दक्षिण भितरवार एवं ग्वालियर सीट पर भाजपा का कब्जा रहा. जबकि ग्वालियर ग्रामीण, डबरा एवं ग्वालियर पूर्व विधानसभा क्षेत्र में कांग्रेस का दबदबा रहा.

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment