नेशनल हेडलाइंस

CBSE Board Result 2024: 10वी – 12वी के परीक्षा परिणाम में अब कोई नहीं होगा टॉपर, पर्सेंटेज सिस्टम खत्म 

CBSE class 10th 12th Exam Result 2024: बीते साल दिसंबर में सीबीएसई बोर्ड ने ऐलान किया था कि वह अब छात्रों को बोर्ड परीक्षा में मिले कुल अंकों के आधार पर फर्स्ट सेकंड और थर्ड डिवीजन में नहीं बटेगा

CBSE class 10th 12th result 2024: केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड यानी कि (CBSE) के 38 लाख परीक्षार्थी बड़ी बेसब्री से अपने बोर्ड परीक्षा रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं

सीबीएसई 10वीं और 12वीं रिजल्ट के अगले महीने यानी मई में जारी होने की पूरी उम्मीद है, बीते साल सीबीएसई बोर्ड ने कई बड़े बदलावों की घोषणा की थी

इन बदलावों में सीबीएसई बोर्ड परीक्षा के प्रारूप के साथ साल में दो बार बोर्ड परीक्षा होनी और रिजल्ट का ऐलान शामिल है

सीबीएसई ने जानकारी दी थी कि वह साल 2024 से कक्षा दसवीं और बारहवीं की बोर्ड परीक्षा में भाग लेने वाले परीक्षार्थियों का ओवर ऑल डिविजन या एग्रीगेट मार्क्स नहीं बताया ना ही वह सीबीएसई 10वीं 12वीं बोर्ड परीक्षा में टॉप करने वाले परीक्षार्थियों के नाम का खुलासा करेगा

और परसेंटेज भी जारी नहीं किए जाएंगे. सीबीएसई बोर्ड परीक्षा नियंत्रक सान्याम भारद्वाज ने जानकारी देते हुए कहा था की कुल मिलाकर कोई श्रेणी विशेष योग्यता या कुल प्राप्तांक नहीं बांटे जाएंगे

अगर छात्र ने पांच से अधिक विषयों में परीक्षा दी है तो उसे प्रवेश देने वाला स्थान या नियोक्ता ही उसके लिए सर्वश्रेष्ठ पांच विषयों पर विचार करने का निर्णय कर सकता है

बीते दिसंबर में सीबीएसई बोर्ड ने ऐलान किया था कि वह अब छात्रों को बोर्ड परीक्षा में मिले कल अंकों के आधार पर फर्स्ट सेकंड और थर्ड डिवीजन में नहीं बाटेगा,

बोर्ड ने जानकारी दी कि उसने 90% से अधिक अंक प्राप्त करने वाले परीक्षार्थियों को दी जाने वाली डिस्टिंक्शन भी बंद कर रहा है

वह किसी भी परीक्षार्थी के लिए अंकों के ओवरऑल प्रतिशत की गणना अब नहीं करेगा अगर किसी शिक्षा या जॉब के लिए 10वीं या 12वीं दोनों कक्षाओं के अंकों का प्रतिशत जरूरी है तो इसका कैलकुलेशन ऐडमिशन लेने वाले संस्थान के द्वारा प्रवेश संस्थान और एंपलॉयर द्वारा किया जाएगा

इससे पूर्व सीबीएसई छात्रों के लिए मेरिट लिस्ट भी जारी नहीं करता था सीबीएसई का ऐसा कहना है कि परीक्षार्थियों के मन में रिजल्ट के डर को कम करने के साथ छात्रों के बीच स्वस्थ प्रतिस्पर्धा बनाए रखने के लिए नियम बनाए जा रहे हैं

बोर्ड परीक्षा में नंबरों के कारण परीक्षार्थी में एक दूसरे के प्रति द्वेष भाव होते थे जो अब सीबीएसई के नो परसेंटेज नो डिवीजन और नो टॉपर प्लान से नहीं होगा यह नियम मात्रा सीबीएसई बोर्ड के लिए बनाए गए हैं, MP बोर्ड के लिए नहीं

विंध्य रियासत डेस्क

खबरें आपके लिए

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button