New District Mauganj: मऊगंज जिला में मौजूद है दो डैम, दोनो है विशाल रीवा संभाग में इस वजह से मऊगंज आगे 

New District Mauganj: मऊगंज जिला में मौजूद है दो डैम, दोनो है विशाल रीवा संभाग में इस वजह से मऊगंज आगे 

मऊगंज वासियों के लिए 4 मार्च एक ऐतिहासिक दिन रहा है इस दिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने मध्य प्रदेश का 53 वा जिला मऊगंज की घोषणा की थी. जिसके बाद इस क्षेत्र में जिला को लेकर त्यौहार मनाया जाने लगा, जिला मऊगंज में यूं तो कई ऐतिहासिक स्थल मौजूद है। देवतालाब, बहुती, हाटेश्वर नाथ धाम एवं अन्य, पर मऊगंज जिला अपने डैम (बांध) को लेकर रीवा संभाग में जाना जाएगा, मिली हुई जानकारी के अनुसार वर्ष 1973-74 में गोरमा डैम का निर्माण हुआ। इसके अलावा नैया हनुमना के पास नवीन डैम भी मौजूद है। हालाकि यह दोनो डैम हनुमना तहसील अंतर्गत ही आते है। जिसमे गोरमा डैम सबसे विशाल डैम है, 

Desi jugad: खेतो में काम करने वाले नही मिल रहे मजदूर,इस जुगाड़ से नही पड़ेगी जरूरत 

रीवा संभाग में मऊगंज डैम को लेकर होगी चर्चा

रीवा संभाग में अगर डैम को लेकर चर्चा होगी तो मऊगंज भी सम्मिलित रहेगा। जल संरक्षण के लिए मऊगंज जिले में कार्य किए गए हैं जिसके बदौलत दो डैम बनाए गए जिसमे अदवा को छोड़ दे अगर, इसके बावजूद भी यहां जल का अभाव विकट रहा है। जिसमे कई प्रतिनिधि अपनी आवाज उठा चुके है। ऐसी चर्चा है की बाणसागर जल परियोजना की सौगात मिल चुकी है। गोरमा और नैया डैम इस जिले को जल स्त्रोत का बढ़ावा दे सकते है, 

हनुमना में मौजूद है दोनों डैम

गोरमा,नैया डैम हनुमना में स्थित है। जिसमें गोरमा डैम की अगर बात करें तो वह काफी विशाल है। कई वर्षों से लगातार पश्चिमी क्षेत्रों की प्यास बुझाता रहा है। पर पिछले कुछ वर्षों से यह डैम जल स्त्रोत को लेकर भी चर्चा में रहा है। बारिश ना होने की वजह से गोरमा और नैया दोनो का जल स्त्रोत कम हो रहा है। जो चिंता का विषय है, 

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment