MP News: सीएम शिवराज, बिजली कानून व्यवस्था और फसलों के नुकसान पर दिए निर्देश, पढ़े पूरा 

MP News: सीएम शिवराज, बिजली कानून व्यवस्था और फसलों के नुकसान पर दिए निर्देश, पढ़े पूरा 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज बैठक में प्रदेश के विभिन्न मुद्दों को लेकर निर्देश दिए हैं। जिनमें से, बिजली के क्षेत्र में हम सरप्लस स्टेट हैं, इसलिए घरेलू व औद्योगिक उपभोक्ताओं को 24 घंटे और कृषि उपभोक्ताओं को 10 घंटे नियमित बिजली की आपूर्ति, मध्यप्रदेश शांति का टापू है और यहां शांति व्यवस्था को बनाए रखना हमारा कर्तव्य है। साथ ही उन्होंने कहा कि, प्रदेश के किसान चिंता न करें, हर परिस्थिति में सरकार उनके साथ खड़ी है।  सीएम ने कहा किसान चिंता ना करें मध्य प्रदेश सरकार हर मुश्किलों से बाहर निकलेगी,

पूरी खबर नीचे है,,,

किसानों के लिए खुशखबरी फसल बीमा योजना पर बड़ी अपडेट इस दिन में खाते आएंगे पैसे!
बंदर और सांप की दोस्ती दे रही मिशाल , इस बंदर की हिफाजत करता है। किंग कोबरा

सीएम शिवराज के निर्देश

1. प्रदेश में बिजली की समस्या पर सीएम ने कहा कि, बिजली को लेकर स्थिति सामान्य है, आगे भी समीक्षा होगी, बिजली के क्षेत्र में हम सरप्लस स्टेट हैं, इसलिए घरेलू व औद्योगिक उपभोक्ताओं को 24 घंटे और कृषि उपभोक्ताओं को 10 घंटे नियमित बिजली की आपूर्ति हो। सीएम ने निर्देश देते हुए कहा ऊर्जा विभाग के साथ-साथ कमिश्नर और कलेक्टर भी स्थिति देखें, साथ ही किसने की फसलों का नुकसान ना हो जिसके लिए सलाह समुचित निर्देश दिए, जिले की जल उपयोगिता समिति की बैठक हो, अगर बांध में पानी है तो बैठक कर पानी की उपयोगिता सुनिश्चित करें,

2. सीएम ने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए हमारी ड्यूटी है, हमारी चुस्ती फुर्ती और सावधानी में कोई कमी नहीं रहनी चाहिए, मध्यप्रदेश शांति का टापू है और यहां शांति व्यवस्था को बनाए रखना हमारा कर्तव्य है, सीएम ने निर्देश देते हुए कहा कि डीजीपी के द्वारा निरंतर समीक्षा हो, साथ ही तीज त्यौहार में कानून व्यवस्था दुरस्त हो, सीएम ने निर्देश देते हुए कहा कि कलेक्टर – एसपी शांति समिति की बैठक कर उचित निर्णय लें,

3. फसलों के नुकसान पर मुख्यमंत्री ने निर्देश देते हुए कहा कि , चिंता ना करें किस उन्हें हर मुश्किल से बाहर सरकार निकलेगी, उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि सभी जिलाधिकारी फसलों पर निरंतर ध्यान रखें, जहां भी अल्प वर्षा के कारण फसल खराब हुई है वहा राहत दें, क्षति का आकलन कर फसल बीमा का पैसा दिया जाए,

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Leave a Comment