MP News: मध्य प्रदेश में बीजेपी की बढ़ी मुश्किलें , RSS के पूर्व प्रचारकों ने बनाई नई पार्टी, रीवा में भी दिया जा सकता है टिकट

MP News: मध्य प्रदेश में बीजेपी की बढ़ी मुश्किलें , RSS के पूर्व प्रचारकों ने बनाई नई पार्टी, रीवा में भी दिया जा सकता है टिकट 

MP assembly Elections 2023: मध्य प्रदेश विधानसभा 2023 के अंत में आयोजित होने वाला है। इससे पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS ) के द्वारा कुछ पूर्व स्वयं सेवकों ने एक राजनीतिक पार्टी बनाने कि घोषणा की, इस पार्टी का नाम  “जनहित पार्टी” बताया, इस कदम से राजनीतिक दलों पर शासन में सुधार के लिए दबाव बढ़ेगा।

MP Politics News: RSS के पूर्व प्रचारक अभय जैन ने भोपाल के पास मिसरोद में अपने पूर्व सहयोगियों के साथ एक बैठक आयोजित की. जिसमें संवादों में कहा कि हमने संघ के कुछ पूर्व प्रचारकों के द्वारा जनहित पार्टी का गठन किया, क्योंकि सभी राजनीतिक दलों की संस्कृति लोकतंत्र का मूल भावना के उलट है। और सभी लोकतंत्र की कसौटी पर असफल रहे हैं,

पूरी खबर नीचे है,,,

सीएम शिवराज ने दिए संकेत, इन बहनों को मिलेंगे 10 हजार महीने, आज ही कर ले ये काम
19 साल इंटरनेशनल क्रिकेट में खेलने के बाद भी इस खिलाड़ी ने कभी नहीं खेला IPL, जानिए ऐसा क्यों?

भाजपा के वोटों में सेंध लगाने का दावा 

अभय जैन ने बताया कि वह विधानसभा चुनाव में अपने प्रत्याशी खड़ा करेंगे। उन्होंने बताया कि ऐसा लग रहा है। कि अभी तक रजिस्टर्ड नहीं हुई पार्टी। सत्ता में बैठी सरकार वोटों में सेध लगा रही। बताया कि वर्ष 2018 के प्रदेश चुनाव में वह नहीं थे तब बीजेपी हार गई थी, तब बीजेपी के सभी वोट कांग्रेस में चले गए थे जो अच्छी स्थिति में नहीं,

एमपी में बीजेपी सरकार के कामकाज से लोग संतुष्ट नहीं : जैन 

अभय जैन ने बताया कि मध्य प्रदेश में बीजेपी सरकार के कार्य से लोग संतुष्ट नहीं है। उन्होंने आगे बताया कि राजनीतिक मंच पर आएंगे तो क्या होगा? जो लोग बीजेपी से खुश नहीं है पर हिंदू मानसिकता रखते हैं। वह हमें पसंद जरूर करेंगे। अगर बीजेपी 5 वोट भी खो देती है तो राजनीतिक अंक गणित के अनुसार कांग्रेस को सीधा फायदा होगा, 

आगे बताते हुए उन्होंने कहा कि हमारे कदम से राजनीतिक दलों पर अपने शासन में सुधारक निर्णय किए जाएंगे, मीडिया ने जब यह सवाल पूछा कि मध्य प्रदेश की सभी 230 सीटों पर चुनाव लड़ने की योजना है? तब अभय जैन ने बताया कि वह चुनाव में उतारे जाने वाले उम्मीदवारों पर चर्चा करेंगे, पर उन्होंने कहा कि हमारे राजनीतिक लक्ष्य दूरदर्शी नहीं है। हमारा टारगेट ऊंचा है, 

200 से अधिक लोग हुए बैठक में शामिल

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि राजनीतिक संगठन प्रदेश पर ध्यान भी केंद्रित करेगा, पर जरूरत के हिसाब से हम अपने फुटप्रिंट का विस्तार करने की प्लानिंग कर रहे। अभय जैन ने बताया कि मिसरोद में उनकी एक बैठक में RSS पृष्ठभूमि वाले 5 लोग सहित 200 लोग सम्मिलित है,

उन्होंने जानकारी दी की 2007 तक वह आरएसएस के प्रचारक थे एवं सिक्कम में भी कार्य किया। उनका दावा है कि वह अभी तक आरएसएस स्वयंसेवक है।

एमपी के ग्वालियर एवं रीवा क्षेत्र के अन्य पूर्व प्रचारक मनीष काले ने बताया कि उन्होंने भी मिसरोद की बैठक में भाग लिया था। उन्होंने बताया कि ‘ मैं 1991 से 2007 तक एक प्रचारक के रूप में था. आज भी विचारधारा एक राष्ट्र के उत्थान के लिए कार्य है,

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment