इतिहास में पहली बार गांव में आए कलेक्टर दिव्यांग से की मुलाकात तुरंत भिजवाया अस्पताल सारी सुविधाओं का दिया आश्वासन।

इतिहास में पहली बार गांव में आए कलेक्टर दिव्यांग से की मुलाकात तुरंत भिजवाया अस्पताल सारी सुविधाओं का दिया आश्वासन।

Mauganj News: यह कोई कहानी नहीं बल्कि हकीकत है। इतिहास के पन्नों में 13 सितंबर 2023 का दिन दर्ज हो गया है। क्योंकि पहले रीवा जिला होने की वजह से ग्रामीण व दूरस्थ वनांचल क्षेत्र तक कलेक्टर या कोई अन्य प्रशासनिक अमला नहीं पहुंच पाता था. परंतु जैसे ही मऊगंज जिला का गठन हुआ और यहां पर कलेक्टर की पदस्थापना हुई मानों मऊगंज के कलेक्टर आम जनमानस के लिए जीवन ज्योति बन गए हैं।

हुआ कुछ यूं की मऊगंज जिले के जनपद पंचायत हनुमना अंतर्गत ग्राम पंचायत पाती मिश्रान के आदिवासी बस्ती प्लाट में एक 17 वर्षीय युवक इंद्रजीत कोल जो पहले तो ठीक था परंतु उसे अचानक कुछ बीमारी हो गई और वर्ष 2018 में उसके आंखों के रोशनी चली गई। काफी दवाई की गई लेकिन आंखों की रोशनी वापस नहीं आ पाई। 

पहले की खबर  

17  वर्षीय इस आदिवासी युवक कि नहीं है आंखों की रोशनी, 8 वर्षों से लेटा है मृत्यु सैया पर. मांगी मऊगंज प्रशासन से मदद

मीडिया की खबरों से कलेक्टर ने लिया संज्ञान 

पीड़ित की इसी व्यथित हालत को देखकर एक दिन प्रथम न्याय न्यूज़ के रिपोर्टर अंकित शुक्ला के द्वारा पीड़ित के घर जाकर विधिवत उसका इंटरव्यू किया गया और इस वीडियो को कलेक्टर मऊगंज अजय श्रीवास्तव के पास भेजा गया। जहां 48 घंटे के अंदर मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव पीड़ित के घर विधायक प्रदीप पटेल एवं समस्त प्रशासनिक अमले के साथ उसके घर पहुंचे एवं उसे एंबुलेंस के माध्यम से हनुमना में मेडिकल कैंप में भिजवा दिया जहां उसका परीक्षण किया जाएगा तथा उसे इलाज के लिऐ रीवा ,जबलपुर ,भोपाल जहां संभव होगा करवाया जाएगा। 

जनपद सीईओ को किया आवास योजना के लिए निर्देशित

मऊगंज कलेक्टर अजय श्रीवास्तव एवं विधायक प्रदीप पटेल ने जनपद सीईओ हनुमना को निर्देशित किया है कि पीड़ित को समस्त योजनाओं का लाभ दिया जाए तथा उसका नाम तुरंत आवास योजना की सूची में जोड़कर उसे लाभ दिया जाए। मऊगंज के विधायक प्रदीप पटेल ने कहा जहां होगा इलाज वहा कराया जाएगा, 

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment