MP News: मध्य प्रदेश की इस लोकसभा सीट पर नहीं है बीजेपी – कांग्रेस की लड़ाई, सपा से भाजपा की करारी जंग 

MP Loksabha Chunaav 2024: मध्य प्रदेश की खजुराहो लोकसभा सीट पर भाजपा का मुकाबला कांग्रेस से नहीं बल्कि सपा से होने जा रहा है। पार्टी ने यहां मनोज यादव को भाजपा के विरुद्ध खड़ा किया है इंडिया गठबंधन में समझौते के तहत खजुराहो की सीट सपा को मिली थी

राजनीति शास्त्रों की माने तो अब भाजपा और सपा के बीच कड़ी लड़ाई देखने को मिलेगी भाजपा ने एक बार फिर विष्णु दत्त शर्मा को खजुराहो से चुनाव लड़ने का फैसला किया खजुराहो की भौगोलिक स्थिति में लगातार बदलाव आया है. 

इंडिया गठबंधन के अंतर्गत सपा ने मनोज यादव को उतारा

बहुजन समाज पार्टी के द्वारा कमलेश पटेल को भी खजुराहो से उम्मीदवार बनाया खुजराहो संसदीय क्षेत्र तीन जिलों छतरपुर, कटनी ,पन्ना में फैला है। जिसमें जिले की आठ विधानसभा सीटों पर भाजपा का कब्जा है

MP News: बीजेपी की मैनिफेस्टो कमेटी में शिवराज का ये स्थान, जानिए सीएम मोहन यादव को कौनसी मिली जिम्मेदारी 

 

इन 14 में मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच

लोकसभा के कुल 14 चुनाव हुए हैं पांच बार कांग्रेस प्रत्याशी को जीत मिली 9 बार भाजपा ने सफलता पाई खुजराहो संसदीय क्षेत्र के प्रतिनिधित्व कांग्रेस की तरफ से स्वतंत्रता संग्राम सेनानी राम सहायक तिवारी, दिग्गज नेता विद्यावती चतुर्वेदी और पुत्र सत्यव्रत चतुर्वेदी कर चुके हैं

समाजवादी पार्टी के नेता लक्ष्मी नारायण नायक भाजपा से उमा भारती और विष्णु दत्त शर्मा लोकसभा का चुनाव जीत चुके हैं। बीते चार चुनाव में पहली बार भाजपा ने वर्तमान सांसद को दोबारा चुनावी मैदान में उतारा. शर्मा ने पिछला चुनाव लगभग 5 लाख वोटो के बड़े अंतर से जीता था

खजुराहो में अब तक भाजपा के प्रतिबंध कांग्रेस रही मगर इस बार समाजवादी पार्टी से भाजपा का मुकाबला है. राष्ट्रीय स्तर पर कांग्रेस और सपा के बीच समझौते का एक गुट विरोधी है कांग्रेस के स्थानीय कार्यकर्ता खुश बिल्कुल नहीं है कांग्रेस कार्यकर्ता सपा प्रत्याशी के लिए भी प्रचार करेंगे

इस संसदीय क्षेत्र के तहत आने वाले तीन विधानसभा पवई ,राजनगर और बड़वारा पर कभी सपा से जुड़े लोग निर्वाचित हुए हैं राजनीतिक विशेषज्ञों की माने तो खजुराहो में साल 2009 के लोकसभा चुनाव में कांग्रेस एवं भाजपा के बीच करीब का मुकाबला रहा था। उससे पहले तो कांग्रेस के प्रत्याशी निर्वाचित भी हुए हैं अब कांग्रेस ने समाजवादी पार्टी के हवाले खजुराहो सीट की है। फैसले का असर आगामी चुनाव में साफ देखा जाएगा कांग्रेस के कार्यकर्ता और नेता सपा का प्रचार करने की दिली  तौर पर तैयार नहीं है इसका लाभ भाजपा को मिलना तय माना जा रहा

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment