MP New Districts: नवीन जिलों की राजनीति के साथ क्या फिर सरकार बना पाएंगे शिवराज? अब तक है इतने जिले

MP New Districts: नवीन जिलों की राजनीति के साथ क्या फिर सरकार बना पाएंगे शिवराज? अब तक है इतने जिले

Madhya Pradesh Politics News: MP में पिछले 20 वर्षों से नवीन जिले बनाए गए, प्रदेश में नवीन जिले बनाने की राजनीति थम नहीं रही है। प्रदेश में कई ऐसे क्षेत्र हैं जहां के लोग अपने इलाके को जिला बनाने की लगातार मांग कर रहे हैं. देखना दिलचस्प होगा कि  नए जिलों की राजनीति कब थमेगी, पर इसका लाभ किसे मिलेगा इस सवाल का जवाब चुनाव के बाद मिल जाएगा,

गौरतलब है कि वर्ष 2000 में जब मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ भिन्न हुआ था तो उस समय मध्यप्रदेश में केवल 45 जिले ही थे जिसके बाद पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती ने नवीन जिले बनाने की नीव रख दी। इसके पहले जनसंख्या, क्षेत्रफल और कई अन्य मुद्दों पर नए जिले बनाने की मांग उठ रही थी पर मध्य प्रदेश राजनीति में वोट बैंक के चलते नए जिला बनाने की मांग अब लगातार उठ रही है। तथा मध्यप्रदेश में इन 23 वर्षों में 9 जिले बन चुके हैं। मध्य प्रदेश के कई क्षेत्र ऐसे हैं जहां अभी भी नया जिला बनाने की लगातार मांग उठती रही है इस समय मध्य प्रदेश में 54 जिले मौजूद है

पूरी खबर बाकी है,,,

Mauganj News: सोनिया मीणा महज 4 घंटे रही मऊगंज की कलेक्टर जाने ऐसा क्यों
नेहा सिंह राठौर ने ‘ MP में का बा ‘पार्ट 2 लॉन्च किया, मचा घमासान वीडियो हुआ वायरल
आज से टमाटर बेचने वाला ‘ टुनार ‘ कहलाएगा, यकीन नहीं हो रहा तो देखें ये वीडियो

नए जिले बनाने की शुरुआत हुई ऐसे 

वर्ष 2003 में विधानसभा चुनाव में तत्कालीन मुख्यमंत्री चेहरे के प्रत्याशी और प्रदेश में भाजपा की अध्यक्ष उमा भारती ने तीन नवीन जिले बनाने का वादा किया, भाजपा की सरकार बनने के बाद बुरहानपुर, अनूपपुर और अशोकनगर के रूप में एमपी के तीन नवीन जिले मिले, तत्कालीन भाजपा सरकार ने खंडवा से अलग करते हुए बुरहानपुर को नवीन जिला बनाया, जबकि गुना से अलग करते हुए अशोकनगर को भी जिले के रूप में स्थापित किया, इसी कड़ी में शहडोल से अलग करते हुए अनूपपुर को भी नवीन जिला बनाया जिसके बाद एमपी में 48 जिले हो गए थे।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के कार्यकाल में बने 6 जिले

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने वर्ष 2008 में 2 नए जिले बनाए, इसके बाद सीधी से अलग होकर सिंगरौली नवीन जिला बना इसी कड़ी में झाबुआ जिले को छोटा किया और अलीराजपुर को नवीन जिला बनाया गया, मध्य प्रदेश में जिलों की संख्या इसी बीच 50 हो गई थी, इसके बाद शाजापुर एवं आगर मालवा से अलग करते हुए आगर मालवा को नवीन जिला बनाया, मध्य प्रदेश में जिला बनने का दौर यहां भी नहीं थमा। टीकमगढ़ को अलग करते हुए निवाड़ी को जिला बनाया गया। इसी बीच मऊगंज तथा नागदा को नवीन जिला बनाने की मुख्यमंत्री ने घोषणा कर दी, जिसके कारण मध्यप्रदेश में अब तक 54 जिले हो गए है,

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment