इंडिया का नाम बदल कर “भारत” रख दिया गया? इंडिया का नाम औपनिवेशिक गुलामी का प्रतीक है

इंडिया का नाम बदल कर “भारत” रख दिया गया? इंडिया का नाम औपनिवेशिक गुलामी का प्रतीक है

G – 20 के शिखर सम्मेलन से पहले ही देश देश में एक विवाद फैल गया है। बताया गया है कि देश का नाम बदलने की वजह से यह विवाद खड़ा हो गया. कांग्रेस के वरिष्ठ नेता जयराम रमेश ने ऐसा आरोप लगाया है. कि मोदी सरकार ने चोरी चुपके देश का नाम इंडिया से बदलकर भारत कर दिया। उन्होंने। बताया कि राष्ट्रपति भवन की ओर से G- 20 शिखर सम्मेलन के दौरान रात्रि भोज के लिए निमंत्रण पत्र भेजे गए जिसमें प्रेसिडेंट ऑफ इंडिया की जगह प्रेसिडेंट ऑफ भारत लिखा गया है।

जयराम रमेश ने सोशल मीडिया के जरिए बताया कि संविधान के खिलाफ है। कांग्रेस नेता के ट्वीट के बाद राजनीति के क्षेत्र में हलचल मच गई है। इस बात की चर्चा  जोरों शोरों से होने लगी है। इसी महीने बुलाई गई पांच दिवसीय संसद सत्र में देश का नाम बदलने के प्रस्ताव को भी दिया जा सकता है।

पूरी खबर नीचे है,,,

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री नहीं रहेंगे शिवराज? तो जानिए कौन होंगे अगले सीएम
सपना चौधरी को जब एक लड़की ने भरे स्टेज पर दे दिया चैलेंज। सपना चौधरी ने स्टेज पर आग लगा दी, लाखो हुऐ दीवाने
धड़ाधड़ बंद हो रहे ये WhatsApp अकाउंट, अगर कर रहे आप ये गलती तो कल से नहीं कर सकेंगे उपयोग

आपकी जानकारी के लिए बताते चलें कि आरएसएस के (RSS ) चालक मोहन भागवत ने एक कार्यक्रम के दौरान लोगों से कहा थी कि इंडिया की जगह भारत का नाम इस्तेमाल करें, उन्होंने कहा था कि इस देश का नाम सदियों से भारत है। इंडिया नहीं है ,इसलिए हमें अपना पुराना नाम ही लेना चाहिए,

 

आपकी जानकारी के लिए बता दे की मानसून सत्र में जुलाई में बीजेपी सांसद बंसल ने राज्यसभा में देश का नाम इंडिया से चेंज कर भारत करने की माग उठाई थी, और कहा था कि इंडिया का नाम औपनिवेशिक गुलामी का प्रतीक है। और ऐसे में संविधान से हटा देना चाहिए, सदन में उन्होंने कहा था कि इंडिया शब्द ब्रिटिश औपनिवेशिक शासको के द्वारा दिया गया था। जबकि देश का असली और प्राचीन नाम भारत है,

For Feedback - vindhyariyasat@gmail.com
Join Our WhatsApp Channel

Related News

Leave a Comment